RSS

’मत चूके चौहान’ – व.राव.

21 जून

जैसे चित्रकारी का कौशल न हो तो भी सुंदर चित्र मन को भाता है, संगीत की पकड़ न हो तो भी वह कर्णप्रिय होकर मन को आल्हादित करता है । ठीक वैसे ही परमात्मा के बारे में ज्ञान न हो तो भी उसकी सृष्टि का कण – कण , क्षण – क्षण मन को प्रमुदित करता है। किन्तु यदि चित्रकारी व संगीत की गहरी पहचान हो तो इनका आनंद बहुगुणित हो जाता है । वैसे ही परमात्म तत्त्व का सुचिंतन हो, अनुभूति का स्पर्श हो तो सृष्टि का जर्रा – जर्रा जीवंत व अहोभाव से बोधित हो उठता है । जैसे कलाओं के आनंद के लिए अभ्यास चाहिए वैसे ही परमात्म तत्त्व के साक्षात्कार के लिए समर्पण चाहिए । यह समर्पण भाव अपनी आंतरिक शक्तियों को जाग्रत करने का मधुरतम फ़ल है। इन शक्तियों को जाग्रत करने का उपक्रम है – ध्यान के प्रयोग, अंतस् की यात्रा, भीतरी क्षमताओं की चैतन्यता । सिद्धों, योगियों, साधकों ने अनेकानेक बार इन उपायों द्वारा अंतर्मन को प्रभु की कक्षा में स्थापित करने का आनंद पाया है । यह आनंद सभी को सुलभ है, सभी को यह आमंत्रण भी देता रहता है । पर हम अधिकतर भावभाषा को समझने में चूक जाते हैं । ध्यान के बजाय ज्ञान (जानकारी) को, अंतर्यात्रा के स्थान पर बहिर्यात्रा को, गहनता के बदले सतही स्वभाव को ढोते ढोते जीवन पूर्ण कर देते हैं ।

हम हर बार चूक जाते हैं – शिव प्रवाह में अपने मन को भिगोने में । सिद्धमार्ग की यात्रा कर चुके अनुभवी, संकेतों से हमें समझाते रहते हैं, पर संकेत समझने की प्रतिभा का विकास भी तो एक साधना है । पूज्य ’बा’ की सन्निधि में  शिव प्रवाह की धारा का पुनर्प्रवाह उद्घाटित हो रहा है । यह एक सुयोग है कि अनुभूतियों की फ़ुहार में नहाए व्यक्तित्त्व का हमें सम्बल व सम्प्रेरण मिल रहा है। हम पीछे न रहें। ’मत चूके चौहान’ यही आव्हान है ।

जानेवारी 2007 शिवप्रवाह
व.राव.

back to अपनी बात

back to Literature

Advertisements
 

टैग: ,

One response to “’मत चूके चौहान’ – व.राव.

  1. Dheeraj

    जून 22, 2011 at 5:19 पूर्वाह्न

    Guru kripa ko pana saral hai lekin ise sambhal kar rakhna atyant kathin hai. Isiliye guru charno pe shraddha hamesha banaye rakhna. Jai shree krishna.

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: