RSS

दीक्षा दिवस….

06 जनवरी

सद्गुरु की महिमा अपरम्पार है, सद्गुरु कृपा असीम है, सद्गुरु तारक है, सद्गुरु दृश्य और अदृश्य सभी का सार है। इसप्रकार की बातों को सुना तो बहुत था, पढ़ा भी था पर अनुभव में तो राजयोगी प्रभु बा के दर्शन से ही आ पाया । इसका कारण संभवत: यह है कि बा का मार्ग उपदेश, पठन-पाठन , श्रवण आदि से परे अनुभव का मार्ग है । हम जब बा को ध्यान से देखते हैं तो पाते हैं कि वे प्रतिपल अपने सद्गुरुदेव में समाई रहती हैं, कहाँ बा के विस्तार का ओर है तथा कहाँ सद्गुरुदेव पूज्य गुळवणीजी महाराज के विस्तार का छोर है, थाह ही नहीं पाते। कहाँ और कैसे दोनों विलग हैं इसकी पहचान भी कहाँ हो पाती है?

व्याख्याकारों ने गुरु और शिष्य के संबंधों को विविध रूपकों से समझाया है, पर इन गुरु-शिष्य की जोड़ी के आगे तो सभी रूपक बौने ही लगते हैं। बा अपने सद्गुरु से सूक्ष्म स्वरूप से साक्षात मार्गदर्शन और प्रत्येक कार्य की सम्मति ले लेती हैं, जबकि हम स्थूल रूप से बा रूपी सद्गुरु के प्रत्यक्ष होते हुए भी न की उनके संकेतों को ठीक से समझ पाते हैं और न ही अपनी कमजोरियों के अंधकार तक उस सूरज की रोशनी को पहुँचा पाते हैं। कमी कहाँ है? सद्गुरु की अनुकम्पा तो अनवरत झर रही है।

इस दीक्षा दिवस से हम यदि इस दिशा में आगे बढ़ेंगे तो पूज्य बा को भी प्रसन्नता होगी कि मेरे चैतन्य पुत्र मेरे मार्ग पर दौड़ पड़े हैं । यों तो कोई बालक गिरता-पड़ता भी आगे बढ़े तो माँ को बड़ा आल्हाद होता है पर वह दौड़ने लगे तो उनके  आनंद का क्या कहना? बा अनेकानेक प्रयासों से साधकों की शक्ति का जागरण करने को आतुर हैं, हमारा सौभाग्य है कि सद्गुरु ने हमें चुना हैं, हमें पात्र माना हैं , इस विश्वास को हमें साकार करना है ।

शिवप्रवाह- नव्हम्बर 2009 अपनी बात-वरदीचन्द राव

back to apani baat

back to literature.

Advertisements
 

टैग: , ,

2 responses to “दीक्षा दिवस….

  1. pankaj2011patel

    जनवरी 9, 2012 at 1:53 पूर्वाह्न

    jay shree krishna

     
  2. Amit Bhavsar

    जनवरी 7, 2012 at 3:49 पूर्वाह्न

    DIKSHA DIWAS PAR BAA KO HARDIK BADHIYA AND JAI SHRI KRISHNA.

     

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

 
%d bloggers like this: